2 या दो से अधिक PF अकाउंट ऑनलाइन ट्रांसफर/मर्ज करें (Transfer/Merge EPF Account or UAN Online)

How To Merge 2/Two PF Accounts In One UAN Online: Two PF Accounts Under One UAN Withdraw, Merging PF Accounts Online & Check PF Merge Status Under One Member One EPF Account In Hindi

हर नई नौकरी के साथ आपको एक नया ईपीएफ खाता (New EPF Account) मिलता है। नया अकाउंट मिलने के बाद ईपीएफ बैलेंस पुराने खाते में ही रह जाता है। अगर पूरी धनराशि एक साथ प्राप्त करना चाहता है तो आपको पीएफ राशि को एक खाते से दूसरे ईपीएफ खाते में ट्रांसफर करना होगा। सामान्यतः दो ईपीएफ अकाउंट स्थानांतरण (2 EPF Accounts Transfer) स्वचालित होना चाहिए क्योंकि दोनों खातों में यूएएन समान रहता है।

कभी-कभी ऑटोमैटिक ईपीएफ ट्रांसफर (Automictic EPF Transfer) की प्रक्रिया में भी कई अड़चनें आ जाती हैं। आपका नाम और जन्मतिथि बेमेल हो सकती है। पिछले खाते के साथ केवाईसी पूरा नहीं हुआ है तो आपके पास दो अलग-अलग UAN हो सकते हैं। ऐसे में आप ज्यादातर यूएएन मेंबर पोर्टल (UAN Member Portal) के जरिए ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर (Online EPF Transfer) के लिए हैं।

80% मामलों के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया सुचारू और सफल है। लेकिन, कभी-कभी आपको ऑनलाइन वेबसाइट का प्रयोग करने में कुछ जटिलताएं आ सकती हैं। यदि आपके पास भी 2 पीएफ अकाउंट हो गए हैं तो आपको भी एक से ज्यादा पीएफ खातों को मर्ज (Marge 2 PF Accounts in 1) करना चाहिए। यदि आप ऑनलाइन पीएफ ट्रांसफर (Online PDF Transfer) की प्रक्रिया को पूरा नहीं कर पा रहे हैं तो आपको ऑफलाइन विधि से भी प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं। आपको हम सलाह देते हैं कि बीच-बीच में अपने पीएफ धन की निकासी अवश्य करते हैं।

💡 Table of Contents (TOC)

  1. ईपीएफ खाता स्थानांतरण / विलय हेतु जारी नए नियम
  2. पीएफ अकाउंट ट्रांसफर / मर्ज करना क्यों जरुरी है?
  3. कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) की मुख्य विशेषताएं
  4. दो यूएएन नंबरों/पीएफ खातों को मर्ज या ट्रांसफर कैसे करें?
  5. ऑनलाइन पीएफ अकाउंट / यूएन ट्रांसफर या मर्ज के लाभ
  6. पीएफ खाता ट्रांसफर या यूएन मर्ज से संबंधित प्रश्न-उत्तर
  7. पीएफ अकाउंट ट्रांसफर हेतु हमसे संपर्क करें

ईपीएफ खाता स्थानांतरण / विलय हेतु जारी नए नियम

1 – New Rules for EPF Account Transfer or Merge

merge-2-uan-pf-account-transfer-in-hindi

प्रिय पाठकों, आपको हम सलाह देते हैं कि पीएफ ट्रांसफर प्रक्रिया (PF Transfer Process) को शुरू करने से पहले, आपको बुनियादी नियमों को अवश्य जानना चाहिए। पीएफ खाते के विलय या लिंकिंग (PF Account Linking or Merger) की प्रक्रिया शुरू करने से पहले आपको इन नियमों को जान लेना चाहिए। इसके अलावा, मैं आपको पीएफ अकाउंट लिंकिंग (PF Account Linking) की चरण-दर-चरण ऑनलाइन प्रक्रिया के बारे में बताऊंगा।

  • कर्मचारी द्वारा “Know Your Customer i.e. KYC” की प्रक्रिया को पूरा करना जरुरी है। इसमें बैंक खाते, पैन और अन्य विवरणों का सत्यापन शामिल है।
  • कर्मचारी के पास यूएएन होना चाहिए और इसे वर्तमान ईपीएफ खाते से भी जोड़ा जाना चाहिए।
  • EPF खातों को मर्ज करने से पहले कर्मचारियों को UAN के एक्टिवेशन के बाद 3 दिनों की अवधि तक प्रतीक्षा करनी चाहिए।

बहुत सारे EPFO ​​सदस्यों का एक सामान्य प्रश्न होता है कि PF खातों को कैसे मर्ज किया जाए (How to Merge PF Accounts)? यह एक सबसे ज्यादा पूछे जाने वाला प्रश्न है। यदि आपने, एक नौकरी छोड़कर हाल ही में बेहतर भविष्य के उत्थानक के लिए अपनी नौकरी बदली है तो आपको इस प्रक्रिया को जरूर पूरा करना होगा।

पीएफ अकाउंट ट्रांसफर / मर्ज करना क्यों जरुरी है?

2 – Why PF Account Transfer / Marge is Important?:

पीएफ अकाउंट ट्रांसफर से हमारा तात्पर्य पुराने और नए पीएफ खातों का विलय से सम्बंधित है। पीएफ खाते को मूल रूप से मर्ज करने में आपकी मदद करने की दृष्टि से, सरकार यूनिवर्सल अकाउंट नंबर या यूएएन (Universal Account Number or UAN) लेकर आई है।

यह ईपीएफ द्वारा सदस्यों को दिया गया 12 अंकों का एक अद्वितीय संख्या यानी यूनीक नंबर है। यूएएन नंबर (UAN Number) सभी पीएफ खातों को एक ही खाते से जोड़ने में मदद करता है, जिससे यह प्रक्रिया बहुत ही आसान हो जाती है। यूएएन नंबर के और भी फायदे हैं जिसमें सबसे ख़ास है कि कर्मचारी आसानी से उसी के जरिए एक पीएफ खाते से दूसरे पीएफ खाते में फंड ट्रांसफर कर सकते हैं।

इसके साथ-साथ आप आधार नंबर को यूएएन से भी लिंक कर सकते हैं, जिससे पीएफ फंड निकालने या ट्रांसफर करने के लिए हस्ताक्षर की आवश्यकता कम हो जाती है। बिना इस नंबर के कोई भी कर्मचारी न अपने पीएफ खाते का प्रयोग कर सकता है और ना ही अपना फंड निकाल या जमा कर सकता है। यह नंबर आपको आपके नियोक्ता यानी Employer द्वारा प्रदान किया जाता है।

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) की मुख्य विशेषताएं

3 – Key Features of Employees’ Provident Fund (PDF):

कर्मचारी भविष्य निधि i.e. Employees’ Provident Fund (ईपीएफ / EPF) कर्मचारी भविष्य निधि और विविध प्रावधान अधिनियम 1952 के तहत केंद्रीय योजना है। कर्मचारियों के खातों से सम्बंधित सभी प्रक्रिया को आधिकारिक विभाग द्वारा ही क्रियान्वित किया जाता है। कर्मचारी वेतन, पेंशन, ऋण आदि से समन्धित सभी प्रक्रियाओं का प्रबंधन EPFO ​​(कर्मचारी भविष्य निधि संगठन) द्वारा किया जाता है।

इसके अलावा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा खाता धारक कर्मचारियों को निम्नलिखित सुविधाएँ भी दी जाती हैं।

  • पीएफ विभाग द्वारा उन सभी प्रतिष्ठानों को शामिल किया गया है जहां 20 या अधिक व्यक्ति कार्यरत हैं तथा विशेष नियमों और शर्तों के अधीन छूट के साथ कुछ कंपनियां भी शामिल हैं।
  • ईपीएफ योजना (EPF Yojana) के तहत, कर्मचारी को एक निश्चित राशि का भुगतान करना होगा जबकि समान योगदान का भुगतान नियोक्ता को करना होगा।
  • कर्मचारी को सेवानिवृत्ति पर संचित ब्याज के साथ स्वयं योगदान और कर्मचारी के योगदान सहित एकमुश्त राशि मिलेगी।
  • नियोक्ता द्वारा योगदान मूल वेतन और डीए (महंगाई भत्ता) के साथ-साथ रखरखाव भत्ता का 12% होगा। कर्मचारी द्वारा भी उतना ही योगदान दिया जाएगा।
  • 20 से कम लोगों को रोजगार देने वाली या अन्य ईपीएफओ-अधिसूचित शर्तों को पूरा करने वाली कंपनियों के लिए, दोनों पक्षों के लिए योगदान 10% है। निजी क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए, मूल वेतन पर अंशदान की गणना की जाती है।
  • योगदान नियोक्ताओं और कर्मचारियों दोनों के मूल वेतन का 12% होगा। नियोक्ता के योगदान में से 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना में स्थानांतरित हो जाएगा।
  • योगदान नियोक्ताओं और कर्मचारियों दोनों के मूल वेतन का 12% होगा। नियोक्ता के योगदान में से 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना में स्थानांतरित हो जाएगा, हालांकि इसकी गणना 15,000 रुपये तक या उस से ऊपर वेतन पर ही की जाएगी।
  • हर महीने मूल वेतन में 15,000 रुपये कमाने वाले प्रत्येक व्यक्ति के लिए कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस) में हर महीने 1,250 रुपये का डायवर्जन होगा।
  • कर्मचारी स्वेच्छा से मूल वेतन के 12% से अधिक की स्वैच्छिक राशि का भुगतान कर सकते हैं। यह वीपीएफ / VPF (स्वैच्छिक भविष्य निधि / Voluntary Provident Fund) के लिए एक योगदान है और इसका अलग से हिसाब किया जाता है।
  • अर्जित ब्याज करों से मुक्त है और इसी तरह सेवानिवृत्ति या परिपक्वता पर प्राप्त एकमुश्त राशि है। आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत भी योगदान कटौती योग्य है।

यदि आपके पास दो पीपीएफ खाते हैं, तो आप स्वाभाविक रूप से जानना चाहेंगे कि दो पीएफ खातों को कैसे मर्ज किया जाए। हालांकि यह प्रक्रिया बहुत ही आसान है जिसे ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से पूरा किया जा सकता है। कर्मचारियों को अपना पीएफ खाता ट्रांसफर करने के लिए UAN की आवश्यकता होगी। हम अपने इस लेख में आपको 2 पीएफ खातों को मर्ज (2 PF Account Merge) करने से संबंधित पूरी प्रक्रिया प्रदान कर रहे हैं।

दो यूएएन नंबरों/पीएफ खातों को मर्ज या ट्रांसफर कैसे करें?

4 – How to Marge or Transfer Two UAN Numbers / PF Accounts Online?:

यदि आप ईपीएफ खाते को ऑनलाइन मर्ज करना चाहते हैं तो एक अपेक्षाकृत सरल प्रक्रिया है। इसके लिए आपको ज्यादा परेशानी उठाने की आवश्यकता नहीं होगी। यदि आप भी इस प्रक्रिया को पूरा करना चाहते हैं तो यह आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से पूरी की जा सकती है।

यूएएन नंबर मर्ज या पीएफ अकाउंट मर्ज हेतु निम्नलिखित चरण शामिल हैं:

4.1 – आधिकारिक वेबसाइट द्वारा (By Official Website)

  • इसके लिए आप ईपीएफओ की वेबसाइट / EPFO Official Website पर जाएं।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर आपको होम पेज पर दिए गए विकल्प “सेवाएं / Services” पर क्लिक करें।
  • यहाँ आपको “एक कर्मचारी – एक ईपीएफ खाता / One Employee – One EPF Account” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • उपरोक्त विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नई विंडो दिखाई देगी।
  • इस पेज पर कर्मचारी को फोन नंबर और UAN सहित अन्य डेटा सहित जानकारी भरनी होगी।
  • महत्वपूर्ण जानकारी की प्रविष्टि के बाद, आपको “जनरेट ओटीपी / Generate OTP” पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको पंजीकृत मोबाइल फोन नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा जिसे आपको दी हुई जगह पर दर्ज करना होगा और “ओटीपी सत्यापन / Verify OTP” पर क्लिक करना होगा।
  • अब आप दूसरी विंडो में चले जायेंगे जहां आप पहले के ईपीएफ खातों का विवरण दर्ज करना होगा जिन्हें आप मर्ज करना चाहते हैं।
  • अब अंत में आपको “सबमिट / Submit” पर क्लिक करने से पहले दिए गए “घोषणा (डिक्लेरेशन) / Declaration” को मार्क करना होगा।

ऑनलाइन दो ईपीएफ खातों को मर्ज (Online 2 PF Accounts Marge) करना एक बहुत ही सरल प्रक्रिया है और यह सुनिश्चित करती है कि आपके पास केवल एक ही समेकित खाता है। यह पीएफ खातों को मर्ज करने की एक बहुत ही सरल प्रक्रिया बनाता है। पीएफ खाता ट्रांसफर होने के बाद आपके पास बस एक ही अकाउंट रहेगा जिसमें आपको वेतन, भविष्य निधि तथा पेंशन से संबंधित सभी जानकारियां तथा प्रक्रियाएं प्राप्त होंगी।

4.2 – विभाग में ईमेल भेज कर (By Sending Email in Dept)

यदि सदस्य के पास दो यूएएन हैं, तो वह ईपीएफओ से पिछले आवंटित 2 यूएएन को निष्क्रिय करने का अनुरोध (Request to Deactivate Allotted 2 UAN) कर सकता है। ऐसा करने के लिए, उपयोगकर्ता को uanepf@epfindia.gov.in पर एक ईमेल भेजना होगा। साथ-ही-साथ आपको वर्तमान यूएएन और पिछले यूएएन बारे में भी पूरी जानकारी प्रदान करनी होगी जिसके बाद प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जायेगा।

इसके पश्चात सत्यापन यानी वेरिफिकेशन के बाद EPFO विभाग द्वारा पहले वाला UAN ब्लॉक कर दिया जाएगा और मौजूदा UAN को एक्टिव रखा जाएगा। प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपको विभाग में अपने सक्रिय यूएन में पैसा तथा अन्य सेवाओं के ट्रांसफर के लिए आवेदन करना होगा। इसके लिए भी आप ऑनलाइन अनुरोध जमा कर सकते हैं। इस प्रकार आपका Merge 2 UAN Accounts पूरा हो जायेगा।

ऑनलाइन पीएफ अकाउंट / यूएन ट्रांसफर या मर्ज के लाभ

5 – Online PF Account / UAN Transfer or Marge Benefitss 

ईपीएफओ द्वारा सभी सेवाओं को ऑनलाइन किया गया है। जो भी कर्मचारी अपने पीएफ, पेंशन या वेतन से सम्बंधित प्रक्रियाओं को पूरा करना चाहते हैं उन्हें आधिकारिक वेबसाइट पर लॉगिन करना होगा। आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से ही आप पीएफ अकाउंट ट्रांसफर या मर्ज करने के लिए आवेदन किया जा सकता है।

आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से यूएन ट्रांसफर या मर्ज करने के निम्नलिखित लाभ हैं:

  • ईपीएफओ ने हाल के दिनों में आधार कार्ड को प्राथमिक यानी प्रमुख आईडी बनाया है। अब किसी भी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आपको अपना आधार कार्ड ऑनलाइन अपलोड करना होगा।
  • UAN के साथ, आप EPFO ​​सदस्य के लिए कई खातों को एक ही खाते में आसानी से समेकित कर सकते हैं। यह यूएन मर्ज या यूएन ट्रांसफर प्रक्रिया ऑनलाइन है जिसे आसानी से पूरा किया जा सकता है।
  • जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, EPFO Department ऑनलाइन ही पीएफ खाता विलय या पीएफ खाता हस्तांतरण की पूरी सुविधा प्रदान करता है।
  • अगर आपके पास आपका यूएन नंबर नहीं है तो वेतन पर्ची पर UAN निर्दिष्ट किया जाता है। UAN को सक्रिय करने के लिए, सदस्य को EPFO ​​की वेबसाइट https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/ पर जाना होगा।
  • उपरोक्त लिंक पर आपको “सक्रिय यूएन / Activate UAN” पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपको यूएएन, जन्म तिथि, नाम और मोबाइल फोन नंबर आदि दर्ज करना होगा और पिन बनाना होगा।
  • इस पिन के करिये आप प्रमाणीकरण यानी वेरिफिकेशन (Verification) पर यूएएन सक्रिय हो जाता है। इस बात पर ध्यान दें कि मर्जिंग फंक्शन आपके यूएएन के एक्टिवेशन के तीन दिन बाद ही उपलब्ध होगा।
  • आप चाहें तो ईपीएफ अकाउंट को ऑनलाइन ट्रांसफर (EPF Account Transfer Online) भी कर सकते हैं। स्थानांतरण प्रक्रिया काफी सरल, कुशल और सुविधाजनक है।
  • आप अपनी सुविधा के आधार पर अपने पहले के नियोक्ता (Previous Employer) या वर्तमान नियोक्ता (Current Employer) के माध्यम से भी दावा प्रस्तुत कर सकते हैं।

अधिकार सभी कर्मचारियों के आधार कार्ड नंबर तथा फोन नंबर को पीएफ अकाउंट के साथ लिंक किया जाता है। कभी-कभी फोन नंबर बदलने या आधार कार्ड में जानकारी बदलवाने की भी हमें जरुरत पड़ जाती है। ऐसी दशा में आपको विभाग में अपनी नई जानकारी को अवश्य ही अपडेट करवाना होगा। यदि आपकी सभी जानकारियां सही-सही पीएफ खाते के साथ दर्ज नहीं की गई है तो आपके ऑनलाइन पीएफ अकाउंट ट्रांसफर (Online PF Account Transfer) को रोक दिया जायेगा। ऐसी स्तिथि में आपको पहले अपने खाते में सभी जानकारियों को अपडेट करवाना होगा।

पीएफ खाता ट्रांसफर या यूएन मर्ज से संबंधित प्रश्न-उत्तर

6 – FAQs Related to PF Account Transfer or UAN Marge

सभी पंजीकृत संस्थानों में कार्य करने वाले कर्मचारियों को उनके संबंधित विभाग द्वारा पीएफ खाता प्रदान किया जाता है। कभी-कभी नौकरी बदलने या किसी अन्य कारण से दो पीएफ अकाउंट बन जाते हैं। ऐसे में आपको दोनों खातों को एक खाते में भी मर्ज करना होगा। हमने अपने इस लेख में इसके संबंध में पूरी प्रक्रिया प्रदान कर दी है।

पीएफ खाता मर्ज या यूएन ट्रांसफर से सम्बंधित अक्सर पूछे जाने वाले पृष्ठों के उत्तर निम्नलिखित हैं:

A. एक से अधिक EPFO ​​आवंटित होते हैं?

दूसरा UAN क्यों आवंटित किया जा सकता है, इसके सबसे सामान्य कारण हैं:

  • पिछले नियोक्ता द्वारा बाहर निकलने की तारीख अपडेट नहीं की गई थी।
  • कर्मचारी द्वारा यूनिवर्सल अकाउंट नंबर का खुलासा नहीं किया गया था।
  • पीएफ खातों के विलय पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

B. क्या होता है जब किसी के पास 2 UAN नंबर होते हैं?

अगर किसी के पास एक कर्मचारी के लिए 2 अलग-अलग UAN नंबर हैं, तो इसे अवैध और नियमों के खिलाफ माना जाता है। जब भी एक कंपनी से दूसरी कंपनी में स्विच करना हो तो आपको अपना पीएफ अकाउंट जल्द से जल्द ट्रांसफर करवाना चाहिए।

C. 2 पीएफ खातों को मर्ज करने में कितना समय लगता है?

पीएफ खातों को स्थानांतरित करने के लिए आवेदन जमा करने की तारीख से लगभग 20 दिनों की आवश्यकता होती है।

D. क्या हमें यूएएन ट्रांसफर के लिए फॉर्म 13 अनिवार्य रूप से चाहिए?

औपचारिक क्षेत्र के कर्मचारियों को नौकरी बदलने पर अपने नए खाते में ईपीएफ ट्रांसफर के लिए फॉर्म 13 जमा करना होगा।

E. क्या मैं यूएएन कार्ड में अपनी फोटो अपलोड कर सकता हूं?

अभी आप यूएएन कार्ड में फोटो नहीं जोड़ सकते। विभाग द्वारा जल्द ही प्रोफाइल फोटो अपडेट करने के लिए भी विकल्प शुरू किया जायेगा। इसके बाद कर्मचारी अपने यूएएन खाते में आसानी से अपनी फोटो लगा सकते हैं।

F. EPFO में UAN कैसे एक्टिवेट करें?

यूएएन पिन की प्रविष्टि और प्रमाणीकरण के दौरान सक्रिय होता है। आपको पहले ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से वेरिफिकेशन यानी सत्यापन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। इसके लिए भी प्रक्रिया हमारे इसी लेख में दी गई है।

पीएफ अकाउंट ट्रांसफर हेतु हमसे संपर्क करें

7 – Contact Us for PF Account Transfer or 2 UAN Marge

कृपया इस जानकारी को अवश्य ही शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को इस जानकारी का लाभ प्राप्त हो सके। यदि आपका कोई प्रश्न है तो हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य पूछें।

सभी राज्यों व केंद्र सरकार की योजनाओं व प्रक्रियाओं की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर आते रहें। हमारी वेबसाइट को बुकमार्क करना न भूलें।

HindiProcess.Com पर आने का धन्यवाद्।

join-hindiprocess-whatsapp-group

TAGS: How To Merge Two UAN Numbers Online | Unfortunately, I Got 2 UAN Numbers On The Same Pan Number. What I Do? | 1 UAN 2 PF Account Withdrawal Process | Two UAN Numbers For Same Person Merge Online | EPFO Merge Accounts | PF Account Transfer To Another PF Account | PF Account Transfer From One Company To Another | PF Account Transfer Kaise Kare | PF Account Transfer Rejected By Field Office | PF Account Transfer Process Online

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top