हर घर तिरंगा अभियान: ध्वज सहिंता 2022 नियम व प्रमाण पत्र डाउनलोड

Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022: Azadi Ka Amrit Mahotsav Har Ghar Tiranga Registration & Certificate Download Online -: देश के नागरिकों में देशभक्ति की भावना को उजागर करने हेतु देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा कुछ दिनों पहले एक नए अभियान की घोषणा की गई है। इस योजना का नाम “हर घर तिरंगा अभियान 2022” दिया गया है। इस “Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022” के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी का लक्ष्य है कि देश के सभी नागिरकों के दिलों में देश-भक्ति को जगाया जाये। इसके माध्यम से हर नागरिक के मन में देश के लिए प्रेम तथा सद्भाव अवश्य उजागर होगा। कैम्पेन की घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री जी ने देश के सभी नागिरकों सेअनुरोध किया है कि इस वर्ष 15 अगस्त यानी स्वतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर अपने घरों पर तिरंगा फहराएं। इस वर्ष हमारा देश आजादी के 75 साल पूरे कर चुका है।

मोदी जी द्वारा 75वां स्वतंत्र दिवस को और ख़ास बनाने के लिए सभी नागरिकों से अनुरोध किया गया है कि सभी लोग अपने घरों में हमारे देश की आन-बान-शान तिरंगा हर घर में लगाया जाए। प्रधानमंत्री जी द्वारा इस अभियान को “आजादी का अमृत महोत्सव” का नाम भी दिया गया है। आपको बताते चलें कि जो नागरिक “भारत के स्वतंत्रता दिवस की 75वीं वर्षगांठ” यानी “Azadi Ka Amrit Mahotsav” के तहत हर घर तिरंगा अभियान में भाग लेगा उसे केंद्र सरकार द्वारा एक प्रमाण पत्र यानी सर्टिफिकेट i.e. Certificate भी दिया जायेगा। देश में 13 अगस्त 2022 से लेकर 15 अगस्त 2022 तक इस अभियान का सञ्चालन किया जायेगा।

इस दौरान देश के नागरिकों से मोदी जी ने आग्रह किया है कि अपने-अपने घर पर सभी नागरिक हमारे देश की शान राष्ट्रीय ध्वज को फहराएं। जो नागरिक इस अभियान में हिस्सा लेंगे तथा अपने घर पर इस दौरान तिरंगा लगाएंगे वे केंद्र सरकार द्वारा इसके लिए बनाई गई आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। अपने इस ब्लॉग में हम आपको अभियान की आधिकारिक वेबसाइट amritmahotsav.nic.in के माध्यम से “हर घर तिरंगा प्रमाण पत्र डाउनलोड” करने की पूरी प्रक्रिया प्रदान कर रहे हैं। “Har Ghar Tiranga Certificate Download” करने के लिए अभियान की अलग वेबसाइट बनाई गई है। इस वेबसाइट के माध्यम से आसानी से प्रमाण पत्र डाउनलोड किया जा सकता है।

💡 Table of Contents (TOC)

  1. प्रधानमंत्री हर घर तिरंगा अभियान क्या है?
  2. घर पर तिरंगा फहराने हेतु जारी किये गए दिशा-निर्देश
  3. हर घर तिरंगा अभियान 2022 के तहत कैसे भाग लें?
  4. हर घर तिरंगा अभियान 2022 प्रमाण पत्र कैसे डाउनलोड करें?
  5. किसने बनाए हैं ध्वजारोहण के लिए नियम व निर्देश?

1. प्रधानमंत्री हर घर तिरंगा अभियान क्या है?

What is PM Har Ghar Tiranga Abhiyan?

har-ghar-tiranga-abhiyan-certificate-download-registration

भारतीय नागरिकों के दिलों में देशभक्ति की भावना जगाने के उद्देश्य से, केंद्र सरकार ने आजादी का अमृत महोत्सव के तत्वावधान में ‘हर घर तिरंगा’ अभियान शुरू किया है, ताकि लोगों को 75वें दिन घर पर तिरंगा फहराने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। भारत की स्वतंत्रता की वर्षगांठ का यह अभियान 15 अगस्त तक चलेगा। केंद्र ने लोगों से भारत की आजादी के 75 साल के समारोह में भाग लेने के लिए 13 से 15 अगस्त तक अपने घरों में तिरंगा फहराने का आग्रह किया है। सरकार ने यह भी स्पष्ट किया कि ध्वज प्रदर्शन के समय पर कोई प्रतिबंध नहीं है, एक नागरिक, एक निजी संगठन या एक शैक्षणिक संस्थान सभी दिनों या अवसरों पर राष्ट्रीय ध्वज फहरा सकता है। इससे पहले, भारतीय नागरिकों को अवसरों को छोड़कर सभी दिनों में तिरंगा फहराने की अनुमति नहीं थी।

सरकार ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तत्वावधान में ‘हर घर तिरंगा’ अभियान की वकालत कर रही है, जिसमें नागरिकों से भारत की आजादी के 75 वें वर्ष को चिह्नित करने के लिए अपने घर पर तिरंगा फहराने का आग्रह किया गया है। पिछले साल, केंद्र ने आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ पहल की घोषणा की थी। इस कार्यक्रम में हर जगह भारतीयों को अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित करने की परिकल्पना की गई है। कार्यक्रम का उद्देश्य राष्ट्रीय ध्वज के साथ संबंध को औपचारिक या संस्थागत रखने के बजाय अधिक व्यक्तिगत बनाना है। आजादी का अमृत महोत्सव भारत की आजादी के 75 साल और भारत के लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को मनाने और मनाने के लिए भारत सरकार की एक पहल है।

2. घर पर तिरंगा फहराने हेतु जारी किये गए दिशा-निर्देश

Rules & Regulations for Hoisting National Flag

केंद्र सरकार के अंतर्गत गृह मंत्रालय द्वारा भारत का ध्वज संहिता, 2002 के अंतर्गत Har Ghar Tiranga Campaign 2022 के लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं। देश के सभी नागिरकों से अनुरोध है कि सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार ही आपको ध्वज फहराना होगा। जैसा कि राष्ट्र के नागरिक अपने घरों में भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराने की तैयारी कर रहे हैं ऐसे में तिरंगे को उचित सम्मान देने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाने अनिवार्य हैं। आपको अवश्य ही ध्यान रखना होगा कि तिरंगा फहराते समय क्या नहीं करना है तथा क्या नहीं करना है। अगर आप अपने घर पर झंडा लगते हैं तो आप Har Ghar Tiranga Certificate Download प्राप्त करने हेतु पात्र माने जायेंगे।

2.1. राष्ट्रीय ध्वजारोहण हेतु जारी संहिता तथा अधिनियम

राष्ट्रीय ध्वज को फहराने के संबंध में ये नियम, भारतीय ध्वज संहिता, 2002 i.e. Flag Code of India, 2002 और राष्ट्रीय सम्मान के अपमान की रोकथाम अधिनियम, 1971 i.e. Prevention of Insults to National Honour Act, 1971 के अंतर्गत जारी किये गए हैं। भारत का ध्वज संहिता सभी कानूनों, परंपराओं, प्रथाओं को एक साथ लाता है। निजी, सार्वजनिक और सरकारी संस्थानों द्वारा राष्ट्रीय ध्वज को प्रदर्शित करने के निर्देश तथा कोड इसी के अंतर्गत कवर किये गए हैं। इन नियमों को तीन भागों में विभाजित किया गया है और इसमें विस्तृत दिशानिर्देश शामिल हैं। भारतीय ध्वज संहिता, 2002 के अनुसार, 30 दिसंबर, 2021 को एक संशोधन के बाद, राष्ट्रीय ध्वज अब पॉलिएस्टर या मशीन-निर्मित हो सकता है। राष्ट्रीय ध्वज हाथ से काता हुआ, हाथ से बुना हुआ या कपास/पॉलिएस्टर/ऊन/रेशम/खादी बंटिंग के साथ मशीन से बना हो सकता है।

2.2. राष्ट्रीय ध्वज कहाँ फहराया/लगाया जा सकता है?

  • भारतीय ध्वज संहिता के पैराग्राफ 2.2 के अनुसार, सार्वजनिक, निजी संगठन या शैक्षणिक संस्थान के सदस्य को सभी दिनों या अवसरों, औपचारिक या अन्यथा, सम्मान के अनुसार राष्ट्रीय ध्वज फहराने / प्रदर्शित करने की अनुमति है।
  • संबंधित संस्था / प्राधिकरण को राष्ट्रीय ध्वज के सम्मान का पूरा ध्यान रखना होगा। तिरंगे के साथ किस भी प्रकार छेड़-छाड़ दंडनीय अपराध है।

2.3. भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का उपयुक्त आकार क्या है?

  • भारत का ध्वज संहिता, 2002 के अनुसार हर घर तिरंगा अभियान 2022 के तहत फहराया जाने वाला राष्ट्रीय ध्वज हमेशा आयताकार होना चाहिए।
  • झंडा किसी भी आकार का हो सकता है, लेकिन राष्ट्रीय ध्वज की लंबाई और ऊंचाई (चौड़ाई) का अनुपात 3:2 होना चाहिए।

2.4. राष्ट्रीय ध्वज कब फहराया जा सकता है?

  • सरकार द्वारा हाल ही में 20 जुलाई, 2022 को भाग- II के पैराग्राफ 2.2 के क्लॉज (XI) के तहत किए गए एक संशोधन ने सूर्यास्त के बाद झंडे को फहराने की अनुमति दी।
  • नया नियम कहता है, “झंडा खुले में प्रदर्शित/फहराया जा जाता है या जनता के किसी सदस्य के घर पर फहराया `जाता है, उसे दिन-रात फहराया जा सकता है।”

2.5. राष्ट्रीय ध्वज को सही फहराने हेतु मुझे क्या ध्यान रखना चाहिए?

  • राष्ट्रीय ध्वज को कभी भी उल्टा नहीं फहराना चाहिए – भगवा बैंड नीचे की पट्टी नहीं होनी चाहिए।
  • Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022 हेतु कुछ अन्य बातों का ध्यान रखें – क्षतिग्रस्त तिरंगे को प्रदर्शित न करें, झंडे को पानी में जमीन या फर्श या निशान को छूने न दें, और कभी भी तिरंगे को इस तरह से न बांधें कि इससे नुकसान हो सकता है।
  • अंत में, भारतीय ध्वज को किसी अन्य ध्वज के साथ एक ही मास्टहेड (फ्लैगपोल के शीर्ष भाग) से एक साथ नहीं फहराया जाना चाहिए।

2.6. राष्ट्रीय ध्वज का ध्वजारोहण के बाद कैसे रखा जाना चाहिए?

  • भारत के ध्वज संहिता के अनुसार, यदि राष्ट्रीय ध्वज क्षतिग्रस्त हो जाता है, तो इसे व्यक्तिगत रूप से नष्ट कर देना चाहिए।
  • इसको डिस्पोस करने के लिए अधिमानतः राष्ट्रीय ध्वज की गरिमा को ध्यान में अवश्य रखें।
  • इसके अतिरिक्त, यदि राष्ट्रीय ध्वज कागज से बना है, तो उसे जमीन पर नहीं फेंकना चाहिए।
  • राष्ट्रीय ध्वज की गरिमा को ध्यान में रखते हुए इन्हें निजी तौर पर त्याग देना चाहिए।
  • हर घर तिरंगा प्रमाण पत्र डाउनलोड करने की सुविधा अमृत महोत्सव की आधिकारिक वेबसाइट पर दी गई है।

3. हर घर तिरंगा अभियान 2022 के तहत कैसे भाग लें?

How to Participate for Har Ghar Tiranga Campaign 2022?

आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान 2022 हेतु भाग लेने की प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  • जो लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करते हैं, वे अपनी प्रोफ़ाइल तस्वीरों को राष्ट्रीय ध्वज में बदलकर भी भाग ले सकते हैं।
  • इसके अलावा, भारतीय नागरिकों को इस अभियान में भाग लेने के लिए 13 से 15 अगस्त तक अपने घरों में तिरंगा फहराने के लिए कहा गया है।
  • प्रधानमंत्री ने मासिक मन की बात के 91 वें संस्करण को संबोधित करते हुए, सभी नागरिकों से अपने घरों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने या प्रदर्शित करके और ‘तिरंगा’ का उपयोग करके ‘हर घर तिरंगा’ अभियान को एक जन आंदोलन में बदलने का आह्वान किया।
  • भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में 2 अगस्त से 15 अगस्त के बीच अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर चित्र प्रदर्शित करें।
  • देश में 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और अन्य वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर अपनी प्रोफ़ाइल तस्वीर को ‘तिरंगा’ में बदल लिया है।
  • विभिन्न राज्यों ने अभियान को सफल बनाने के लिए कदम और उपाय किए हैं।
  • महाराष्ट्र में, राज्य सरकार ने राज्य के सहयोग विभागों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्रत्येक हाउसिंग सोसाइटी स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराए।
  • सभी सरकारी व अर्धशासकीय भवनों को भी यही निर्देश दिया गया है।
  • उत्तर प्रदेश के आगरा शहर ने दावा किया है कि भारत की स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर कुल 20 करोड़ परिवार राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे।
  • असम की राज्य सरकार ने 80 लाख तिरंगे झंडों के निर्माण का वादा किया है जो घरों में वितरित किए जाएंगे।
  • सरकार ने बोंगाईगांव में स्थित एक कपड़ा उद्योग को विनिर्माण का काम सौंपा है जो मिशन को प्राप्त करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहा है।

उदाहरण के लिए, 2002 के ध्वज संहिता के अनुसार, राष्ट्रीय ध्वज को एक भी मास्टहेड से नहीं फहराया जाना चाहिए, फर्श को छूना चाहिए, इस तरह से बांधा जाना चाहिए कि इसे नुकसान न हो, या उलटे तरीके से प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए। अन्य प्रतिबंधों में राष्ट्रीय ध्वज का उपयोग चिलमन के रूप में, रूमाल पर मुद्रित, या किसी भी पोशाक सामग्री के रूप में किया जा रहा है।

4. हर घर तिरंगा अभियान 2022 प्रमाण पत्र कैसे डाउनलोड करें?

How to Download Har Ghar Tiranga Abhiyan 2022 Certificate

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू किये गए हर घर तिरंगा अभियान 2022 के अंतर्गत आपको प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए पहले harghartiranga.com या amritmahotsav.nic.in वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। Har Ghar Tiranga Campaign Certificate Download करने हेतु पूरी प्रक्रिया निम्नलिखित है:

  • सबसे पहले रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको हर घर तिरंगा अभियान की आधिकारिक वेबसाइट harghartiranga.com पर विजिट करना है।
  • उसके बाद आपको होम पेज पर ही दिए गए विकल्प “Pin A Flag” के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब जैसे ही आप उक्त विकल्प का चयन करते हैं तो आपके सामने स्क्रीन पर एक फॉर्म खुलकर आ जाता है।
  • इस फॉर्म में आपको अपनी सामान्य जानकारियां जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करना है और फिर “Next” के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आप देख सकते हैं की आपकी हर घर तिरंगा अभियान हेतु रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।
  • अंत में आपको “Download Certificate” के विकल्प पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आपके फोन या कंप्यूटर पर यह डाउनलोड हो जायेगा।

साथियों, इस प्रमाण पत्र को डाउनलोड करने के बाद आप इसका प्रिंटआउट भी निकलवा सकते हैं तथा इसे अपनी दुकान या घर पर चिपका सकते हैं। इसके अलावा आप “डिजिटल तिरंगा (Digital Tiranga)” भी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं जिसपर आप अपनी फोटो अपलोड कर सकते हैं। इसके लिए आपको https://harghartiranga.com/digital-tiranga लिंक पर जाना होगा। तिरंगा भारत के संविधान से निकटता से जुड़ा हुआ है। यह संविधान सभा (सीए) थी जिसने राष्ट्रीय ध्वज पर निर्णय लेने के लिए जून 1947 में 12 सदस्यीय तदर्थ समिति का गठन किया था।

5. किसने बनाए हैं ध्वजारोहण के लिए नियम व निर्देश?

Who Made the Rules and Instructions for Hoisting the Flag?

“ध्वज समिति” नामित, इसकी अध्यक्षता राजेंद्र प्रसाद, अध्यक्ष थे, और इसके सदस्य डॉ बाबासाहेब अम्बेडकर, मौलाना अबुल कलाम आजाद, सरोजिनी नायडू, सी राजगोपालाचारी, केएम मुंशी, केएम पन्निकर, फ्रैंक एंथोनी, पट्टाभि सीतारामय्या, हीरालाल शास्त्री, बलदेव सिंह, सत्यनारायण सिन्हा और एसएन गुप्ता थे।

यह दिया गया था कि इस समिति के सदस्य तिरंगे को राष्ट्रीय ध्वज के रूप में अपनाने का प्रस्ताव दिया गया था, चरखे को अशोक चक्र से बदलने के एक महत्वपूर्ण संशोधन भी इसी दल द्वारा किया गया है।

भले ही तिरंगे को पहली बार 1931 के अपने प्रस्ताव में कांग्रेस पार्टी द्वारा अपनाया गया था, लेकिन व्यवहार यह सिर्फ कांग्रेस पार्टी की पहचान न बनकर देश की बचन बन गया और स्वतंत्रता की लड़ाई में भारतीयों द्वारा आयोजित मुख्य बैनर बन गया।

सीए में चर्चा में, सदस्यों ने बार-बार ध्वज को स्वतंत्र भारत के लिए बलिदान के प्रतीक के रूप में संदर्भित किया; एच.के. खांडेकर ने कहा, “कितने अपने प्राणों की आहुति दी, उनके बच्चों को रौंदा और नष्ट कर दिया।

ब्रिटिश साम्राज्य ने इस ध्वज को नष्ट करने के लिए अपनी सारी शक्ति का इस्तेमाल किया, लेकिन हम इस देश के निवासियों ने हमेशा इसे संजोया और संरक्षित किया।”

कृपया इस जानकारी को अवश्य ही शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को इस जानकारी का लाभ प्राप्त हो सके। यदि आपका कोई प्रश्न है तो हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य पूछें।

सभी राज्यों व केंद्र सरकार की योजनाओं व प्रक्रियाओं की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर आते रहें। हमारी वेबसाइट को बुकमार्क करना न भूलें।

HindiProcess.Com पर आने का धन्यवाद्।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top