10/recent/ticker-posts

emarriage.uk.gov.in उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन पंजीयन व पात्रता, आवश्यक दस्तावेज | Uttarakhand e-Marriage Certificate Vivah Panjiyan Praman Patra

emarriage.uk.gov.in Uttarakhand e-Marriage Certificate / विवाह प्रमाण पत्र या शादी का प्रमाणपत्र Apply Online / Vivah Panjiyan Praman Patra Online Avedan PDF Application Form Download, Required Documents, Eligibility Criteria & Helpline (in Hindi)

इस पोस्ट में यह हम बात करने वाले है कि किस तरह से उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र / Uttarakhand Marriage Certificate or Uttarakhand Vivah Praman Patra को बनवाया जाता है। इसमें आपको किस तरह के दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है। सबसे महत्वपूर्ण बात कि विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कैसे करते हैं। नीचे की पोस्ट में हमने सभी मुद्दों पर चर्चा की हुई है।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र क्या है?

Uttarakhand e-Marriage Certificate
Uttarakhand e-Marriage Certificate

Uttarakhand Marriage Certificate Online Apply / Vivah Praman Patra Online Avedan => यह एक ऐसा प्रमाण पत्र होता है जो यह साबित करता है कि पति और पत्नी कानूनी रूप से शादीशुदा हैं। अगर आप इस प्रमाण पत्र को प्राप्त कर लेते हो तो आपको कानूनी रूप से शादीशुदा माना जायेगा।

भारतीय संविधान में विवाह से सम्बंधित कुछ निर्देशों को दिया गया है। भारत में विशेष विवाह अधिनियम 1955 / Special Marriage Act 1955 और हिन्दू विवाह अधिनियम 1954 / Hindu Marriage Act 1954 के तहत पंजीकरण होता है।

हिन्दू विवाह अधिनियम के तहत हिन्दू जैन, बौद्ध और सिख अपने विवाह का पंजीकरण करा सकतें हैं। जो लोग इन धर्म से अलग हैं उनके लिए विशेष विवाह अधिनियम में जगह दी गई है जिसके अंतर्गत वह अपने विवाह का पंजीकार करा सकतें हैं। अगर आपके पास उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र पीडीएफ फॉर्म / Uttarakhand Marriage Certificate PDF Form नहीं है तो आपको शादी के प्रमाण के रूप में शादी की फोटो या शादी का कार्ड दिखाना पड़ता है।

यह सब साथ में ले जाना असंभव सा जान पड़ता है। ऐसे में इन्हे संभालना भी मुश्किल काम हो जाता है। 2006 में न्यायालय ने विवाह प्रमाण पत्र को अनिवार्य बन दिया जिसे सभी विवाहित लोगों के पास होना चाहिए। इसलिए विवाह प्रमाण पत्र को बनवाना बहुत ही अच्छा विचार है। उत्तराखंड में आप या तो ऑनलाइन बनवा सकतें हो या फिर ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हो। नीचे हम देखेंगे कि कौन सा तरीका सबसे अच्छा है। इस पोस्ट को अंत पढ़ें।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र दस्तावेज क्या हैं?

Required Documents to Uttarakhand Marriage Certificate PDF Form Download => उत्तराखंड में आप तब तक आवेदन नहीं कर सकते हो जब तक आप नीचे दिए गए को दस्तावेज पूर्ण नहीं कर लेते हो। विवाह प्रमाण पत्र के दस्तावेज कुछ इस प्रकार हैं:-

  • वर की उम्र 21 साल या उससे ज्यादा होना चाहिए और वधु की उम्र 18 साल या इससे ऊपर होना चाहिए।
  • वर और और वधु के पास वोटर आईडी कार्ड होना चाहिए।
  • उनके पास आयु प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  • वर और वधु अपनी आयु को बताने के लिए आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या पेन कार्ड का इस्तेमाल कर सकती हो।
  • एफिडेविट के रूप में वर और वधु का शपथ पत्र होना चाहिए।
  • आपके पास विवाह का प्रमाण होना चाहिए जैसे कोई फोटो या शादी का कार्ड या कोई गवाह होना चाहिए।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र के लाभ क्या हैं?

Benefits of Uttarakhand Vivah Praman Patra Avedan => विवाह प्रमाण पत्र बनने के उपरांत आपको कई प्रकार की मदद मिलती है जिसे हमने नीचे बातया हुआ है। वह लाभ स प्रकार हैं:-

  • अगर आपको कभी विदेश जाते हो तो आपको पासपोर्ट की जरूरत पड़ती है। इस पासपोर्ट में अपनी वैवाहिक स्थिति को दर्शाने के लिए विवाह प्रमाण पत्र जरूरी होता है।
  • आप अपना जॉइंट खाता भी खुलवा सकती हो या सकते हो।
  • कपल वीजा लेने में भी विवाह प्रमाण पत्र की जरूरत पड़ती है।
  • यह प्रमाण पत्र आपको प्रॉपर्टी में बराबरी का हकदार बनता है।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

Uttarakhand Marriage Certificate PDF Application Form Download => उत्तराखंड में आप ऑफलाइन भी विवाह प्रमाण पत्र को बनवा सकते हो। इसके लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करना होगा।

  • ऑफलाइन आवेदन के लिए सबसे पहले आपको उप मंडल मजिस्ट्रेट के कार्यालय / Sub-District Magistrate (SDM) में जाना होगा।
  • जाने से पहले अपने पास सभी दस्तावेजों को रख लें।
  • वहाँ बैठे अधिकारिओं से विवाह प्रमाण पत्र का फॉर्म लें।
  • इस फॉर्म को बड़े ही ध्यान से पड़ना है।
  • इसमें पूछी गई जानकारी को भरना है और इसमें मांगे गए सभी दस्तावेजों को संलग्न करना है।
  • इसके बाद भरे हुए फॉर्म को कार्यालय में जमा करा देना है।
  • विभाग की सभी प्रक्रिया पूरी होने पर आपको सूचित किया जायेगा।
  • फिर आपका प्रमाण पत्र बन जायेगा।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

Uttarakhand Marriage Certificate Online Application Form => इसमें हम देखेंगे कि ऑनलाइन आवेदन कैसे करना है। ऑनलाइन आवेदन ऑफलाइन की तुलना में आसान और समय की बचत करने वाला है। आवेदन को सफल बनाने के लिए नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करें।

  • सबसे पहले आपको उत्तराखंड की मरीज वेबसाइट पर जाना होगा। वह जाने के लिए यहाँ क्लिक करें
  • इस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पेज खुलेगा जिसमे आपको पूछी गई जानकारी को भरना है।
  • इसे भरें के बाद आपको सब्मिट कर देना है। इस तरह आप वेबसाइट में लॉगिन हो जाओगे।
  • फिर आपको फॉर्म को सलेक्ट करना है।
  • इस फॉर्म में पति की डिटेल और पत्नी की डिटेल और एक गवाह की डिटेल भरनी है।
  • फॉर्म को भरने के बाद सबमिट कर देना है।
  • 15 दिनों के बाद आपका विवाह प्रमाण पत्र बन जायेगा।

उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र हेतु किससे मदद लें?

Uttarakhand Vivah Praman Patra Helpline / Contact Details => अगर आपको उत्तराखंड विवाह प्रमाण पत्र को बनवाने में किसी भी समस्या का सामना करना पड़ रहा है और आप उस समस्या को हल नहीं कर पा रहे हो तो नीचे आपको बलूनी कुमार जी से संपर्क कर सकते हो।

  • टोल फ्री नंबर: 1800-3000-3468
  • मोबाइल नंबर: 9761696435
  • ईमेल आईडी: amitkumar.baluni@gmail.com

कृपया इस जानकारी को अवश्य ही शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को इस जानकारी का लाभ प्राप्त हो सके। यदि आपका कोई प्रश्न है तो हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में अवश्य पूछें।

सभी राज्यों व केंद्र सरकार की योजनाओं व प्रक्रियाओं की जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर आते रहें। हमारी वेबसाइट को बुकमार्क करना न भूलें।

HindiProcess.Com पर आने का धन्यवाद्।

Post a Comment

10 Comments

  1. sir good evning. uttrakhand hindu bhiwah panjikran ki site nhi chal rhi hai kab khulegi ply btayai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. महोदय / महोदया, यदि आप ऑनलाइन आवेदन करने में असमर्थ हैं आप नजदीकी मैरिज रजिस्ट्रार के कार्यालय में जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं। यदि आपको ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें नीचे लिंक में अपने कमेंट के माध्यम से बताएं। हम आपकी पूरी सहायता करेंगे। धन्यवाद्।

      Delete
  2. sir jis site mai phle panjikran ho rha thaa ab vo site nhi chal rhi hai .kis site se panjikran ho rhe hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. महोदय / महोदया, तकनीकी दिक्कतों के कारण तथा कोविड 19 की वजह से सरकारी कार्यालयों में स्टाफ की कमी के कारण ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अभी शायद बंद कर दिया गया है। जल्द ही ऑनलाइन विवाह पंजीकरण यानी मैरिज रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू कर दी जाएगी। जैसे ही यह वेबसाइट पर शुरू होगी हम आपको अपनी वेबसाइट के माध्यम से तुरंत सूचित कर देंगे।

      यदि आप ऑनलाइन आवेदन करने में असमर्थ हैं आप नजदीकी मैरिज रजिस्ट्रार के कार्यालय में जाकर पंजीकरण करवा सकते हैं। यदि आपको ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया की जानकारी चाहिए तो कृपया हमें नीचे लिंक में अपने कमेंट के माध्यम से बताएं। हम आपकी पूरी सहायता करेंगे। धन्यवाद्।

      Delete
  3. but sir ciber wale kis site se kar rhe hai.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Hello Sir, Vivah Praman Patra Panjikaran ki adhikari website phir se shuru kar di gai hai. Aap official portal par visit karen.

      Delete
  4. आदरणीय सर,
    मेरी मैरीज का हुए 7 साल हो गए है क्या मैं अभी ऑनलाइन आवेदन कर सकता हूं। इसकी मुझे कितनी फीस देनी होगी सरकार के मुताबिक। जैसा की समय बहुत ज्यादा हो गया है इसकी कोई पैनेल्टी फीस भी देनी होगी अगर देनी होगी तो कितनी देनी होगी। आदणीय विस्तार से समझाने का कष्ट करें।

    ReplyDelete
    Replies
    1. हां क्यों नहीं।

      अपनी शादी को साबित करने के लिए आपको आवेदन पत्र के साथ शादी के निमंत्रण कार्ड भी नहीं देना होगा।

      आपको रजिस्ट्रार कार्यालय में जाकर विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करना होगा। आपको अपनी पहचान का प्रमाण और पते का प्रमाण होगा। आवेदन पत्र जमा करने के बाद रजिस्ट्रार एक तारीख प्रदान करता है जिस दिन वह पंजीकरण करेगा। आप दो गवाहों के साथ तारीख पर पहुंचें। दोनों पति-पत्नी एक शपथ पत्र पर यह कहते हुए हस्ताक्षर करने होंगे कि उनकी शादी किस तारीख पर हुई थी।

      गवाह ने यह कहने के लिए हस्ताक्षर करेगा कि पंजीकरण उनकी उपस्थिति में किया गया था। साक्षी आपकी शादी के लिए ज़मानत नहीं देंगे बस गवाही ही देंगे। उसके बाद ही रजिस्ट्रार दस्तावेज पर अपनी मुहर लगाएगा। फिर आप के विवाह की जानकारी रजिस्टर में दर्ज किया जाता है। पंजीकरण के बाद दस्तावेज़ आपको सौंप दिया जाता है। इसमें कुछ दिन लग सकते हैं।

      आजकल, नगर परिषद या नगर पालिकाओं या नगर विकास अधिकारियों ने इस प्रक्रिया को डिजिटल कर दिया है। इसमें आपकी फोटो और उंगलियों के निशान लेना शामिल है। इसमें सबसि बड़ी आधार कार्ड मदद करता है। प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपका विवाह प्रमाणपत्र आपके डिजीलॉकर खाते पर दिखाई दे जायेगा। आप तुरंत अपना प्रमाणपत्र प्राप्त करें।

      Delete
  5. मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं। अब मेने तलाक ले लिया है। मेरे पति ने कभी भी सर्टिफिकेट नहीं बनवाया। अब हमारा केस चल रहा है कोर्ट में और मुझे अपना हक चाहिए। मेरे पति का वकील शादी के कागज मांग रहा है पर वो तो हैं ही नहीं। कृपया मुझे बताएं क्या मैं 5 साल बाद विवाह प्रमाण पत्र पंजीयन करवा सकती हूं।

    ReplyDelete
  6. प्रिय पाठक, जैसाकि आपके द्वारा दी गई जानकारी से हमें यह पता चलता है कि संपत्ति सम्बन्धी विवाद चल रहा है। आप इतने अधिक समय बीत जाने के बाद आप विवाह प्रमाण पत्र के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं। आप एक एफिडेविट पर गवाहों की गवाही ले सकते हो कि आपका विवाह उन सब की मौजूदगी में हुआ है।

    ReplyDelete

हमारी वेबसाइट HindiProcess.Com पर कमेंट हेतु धन्यवाद्। हमारी टीम जल्द ही आपकी आपकी समस्या का समाधान करने का प्रयास करेगी।